तरक्की की सीढियों पर चढ़ते हुए हुई असुविधा के लिए खेद है




प्रिय ब्लॉग लेखक  एवं पाठक बंधुओं,


आपके प्रिय ब्लॉग संकलक हमारीवाणी को और भी अधिक सुविधा जनक बनाने एवं निरंतर चलाने हेतु इसे स्वयं के सर्वर पर स्थानांतरित करना अत्यंत आवश्यक था, जिसे तकनीकी टीम तथा मार्गदर्शक मंडल के प्रयासों से तथा आप सभी के सहयोग की उर्जा से पूर्ण: कर लिया गया है।. इसी दिशा में कुछ तकनीकी कार्यों के चलते हमारीवाणी  पिछले दिनों ताज़ा पोस्ट दिखा पाने में असमर्थ थी। परन्तु अब सभी फाइल्स स्थानांतरित हो गयी हैं तथा तकनीकी कार्य भी अधिकतर पूरा कर लिया गया है, इसलिए इसे दुबारा प्रारंभ कर दिया गया है। इस कारण आप सभी ब्लॉग लेखकों तथा पाठकों को हुई असुविधा के लिए हमें खेद है।

आप सभी के सहयोग के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद!

4 टिप्‍पणियां:

  1. असुविधा से अपना सर्वर ज्यादा जरुरी था| अपने सर्वर पर ज्यादा ट्रेफिक बढ़ने पर दिक्कत नहीं होगी|

    शुभकामनाएँ|

    उत्तर देंहटाएं
  2. तकनीकी में अवरोध कोई मायने नहीं रखता ....हमारीवाणी बनी रहे यही कामना है....शुभकामनाएं आप सभी को !

    उत्तर देंहटाएं
  3. और आपके वापस आने की हमें खुशी है

    उत्तर देंहटाएं